अन्य

देश को सकारात्मक दिशा देगा तीन तलाक मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला : पुतुल सिंह

Banka Live On Telegram
20170511 212840 1 - Banka Live


बांका Live डेस्क : तीन तलाक जैसे मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले ने यह सिद्ध कर दिया है कि भारत में लोकतंत्र महज भीड़तंत्र का मोहताज नहीं, बल्कि मजबूत न्याय तंत्र की सुरक्षित छाया में पल्लवित पुष्पित हो रहा है. पूर्व सांसद एवं वरिष्ठ भाजपा नेता पुतुल सिंह ने तीन तलाक मुद्दे पर आये सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए ये बातें कहीं.

उन्होंने कहा कि भारतीय न्याय तंत्र और इसके फैसले नैसर्गिक और विश्वस्तरीय रहे हैं. दुनिया भारतीय न्यायिक प्रणाली को सम्मान देती है. तीन तलाक जैसे मुद्दे पर देश के सर्वोच्च न्यायालय ने जो फैसला सुनाया, उसने स्पष्ट कर दिया है कि भारत में लोकतंत्र का भविष्य उजाले की ओर लगातार अपना कदम बढ़ा रहा है. पूर्व सांसद ने कहा कि भारत संविधान की व्यवस्था के तहत धर्मनिरपेक्ष देश है, लेकिन इसका मायने यह कतई नहीं कि यहां जितने धर्म, समुदाय, जाति और कबीले हैं, उतने कानून होंगे. यह भी नहीं हो सकता कि हर राज्य के लिए अलग- अलग कानून हो. एक देश- एक नागरिकता- एक अधिकार और एक कानून के सिद्धांतों में विश्वास करके ही लोकतंत्र को सिंचित किया जा सकता है.

पूर्व सांसद ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले ने देश की आधी आबादी के अधिकारों और संपूर्ण मानवता के अस्तित्व की रक्षा की है. उन्होंने कहा कि अब समय आ गया है जब देश में कॉमन सिविल कोड लागू हो. पूर्व सांसद ने कश्मीर को विशेष दर्जा दिए जाने वाले संविधान की व्यवस्था आर्टिकल 370 सहित देश में असमानता पैदा करने वाले तमाम कानून, धाराएं और उप धाराओं को समाप्त कर ‘एक देश- एक कानून’ की व्यवस्था लागू हो. देश की एकता, अखंडता और मजबूती के लिए यह कदम अत्यंत प्रासंगिक और जरूरी भी है.

■ बांका लाइव ब्यूरो

Banka Live Offer

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button