अन्यबांका

पंचायत शिक्षक : बांका जिले में पिछड़ी जाति के लिए सीट नहीं रहने पर उठे सवाल

Banka Live On Telegram

BANKA : बांका जिले में पंचायत शिक्षक नियोजन में पिछड़ी जाति वर्ग के लोगों के लिए सीट नहीं है। लेकिन आखिर ऐसा क्यों? यह सवाल उठाया है बिहार प्रदेश सूड़ी (शौनडिक) संघर्ष मोर्चा की प्रदेश कार्यसमिति के सदस्य, भागलपुर प्रमंडलीय संयोजक एवं बांका जिला अंतर्गत बाराहाट प्रखंड के बभनगामा ग्राम पंचायत के मुखिया दिगंबर मंडल ने।

IMG 20191107 140108 - Banka Live
दिगंबर कुमार मंडल, मुखिया, बभनगामा पंचायत, बांका

उन्होंने कहा कि पंचायत शिक्षक नियोजन में जिले के किसी भी नियोजन इकाई में पिछड़ी जाति वर्ग के लोगों के लिए सीट नहीं है। इस संबंध में उन्होंने जिला शिक्षा पदाधिकारी को ज्ञापन देकर मामले की जांच एवं सीट आवंटन में सुधार की मांग की है।

जिला शिक्षा पदाधिकारी को दिए ज्ञापन में उन्होंने कहा है कि ग्राम पंचायत बभनगामा (बाराहाट) सहित बांका जिले के किसी भी पंचायत नियोजन इकाई में पिछड़ी जाति के लोगों के लिए सीट नहीं दिया गया है। इससे जिले के पिछड़ी जाति से आने वाले टेट उत्तीर्ण युवाओं को बांका में आवेदन जमा करने का मौका नहीं मिल पा रहा है।

Banka Live Offer

उन्होंने कहा है कि पंचायत नियोजन इकाई बभनगामा में शिक्षकों के लिए 4 पद रिक्त हैं। जबकि विभाग के द्वारा 2 पद ही दिए गए हैं। उन्होंने सवाल उठाया है कि आखिर ऐसी क्या वजह है जिससे पिछड़ी जाति के लिए एक भी सीट किसी पंचायत नियोजन इकाई में नहीं दी गई!

Want to advertise with us - Banka Live

श्री मंडल ने कहा है कि इस विषय को गंभीरता से लेते हुए इस मामले में यथोचित प्रशासनिक कार्यवाही की जाए जिससे जिले के पिछड़ी जाति के टेट उत्तीर्ण अभ्यर्थियों को जिले की पंचायत नियोजन इकाईयों में आवेदन करने का अवसर मिल सके।

उन्होंने बभनगामा पंचायत नियोजन इकाई में शिक्षकों के 2 और पदों की रिक्ति प्रदान करने की भी मांग जिला शिक्षा पदाधिकारी से की है, ताकि पंचायत के विद्यालयों में पर्याप्त शिक्षक रहें और विद्यालय में पठन-पाठन सुचारू ढंग से चल सके।

Related Articles

One Comment

  1. दो रिक्त पद के लिए भर्ती की मांग बहुत ही सराहनीय है….
    लेकिन पिछड़ी जाती के बजाय….. सभी जाती को समान अधिकार देना चाहिए था, फार्म भरने के लिए…… की मांग ज्यादा उचित होता……
    जय हिंद……

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button