स्वास्थ्य

बांका मंडलकारा में 41 बंदी हैं मानसिक रोगों के शिकार : डॉ एमयू फारुक

Banka Live On Telegram
IMG 20170830 WA0008 - Banka Live

बांका Live डेस्क : बांका मंडलकारा में फिलहाल 41 बंदी विभिन्न प्रकार की मानसिक बीमारियों से ग्रस्त हैं. इस बात का रहस्योद्घाटन बांका सदर अस्पताल के मनोवैज्ञानिक डॉक्टर एमयू फारुक ने की है. मंडलकारा में राष्ट्रीय मानसिक स्वास्थ्य जागरुकता कार्यक्रम के तहत आयोजित आयोजित 13वें जागरूकता शिविर के बाद उन्होंने यह जानकारी बांका लाइव को दी.

उन्होंने कहा कि जांच के दौरान बांका मंडल कारा के 41 ऐसे बंदी मिले जो विभिन्न प्रकार के मानसिक रोगों के शिकार हैं. इनमें साइकोसिस के दो, साइको न्यूरोसिस के 31, मिर्गी के दो, डिप्रेशन के 10 तथा मंदबुद्धि सिंड्रोम से ग्रस्त 3 मरीज शामिल हैं. ये सभी विभिन्न मामलों को लेकर बांका मंडल कारा में बंद हैं. इन मरीजों को बेहतर जीवन पद्धति और मानसिक बीमारियों से उबरने के टिप्स दिए गये. उनकी काउंसलिंग की गई तथा उन्हें उपचार बताए गए.

ज्ञात हो कि राष्ट्रीय मानसिक स्वास्थ्य जागरुकता कार्यक्रम के तहत बांका सदर अस्पताल के मनोरोग विभाग द्वारा डॉक्टर एमयू फारुक के नेतृत्व में अब तक कुल 13 जागरूकता शिविर आयोजित किए जा चुके हैं. इन शिविरों में फालोअप मरीजों सहित मानसिक रोगों के 170 बंदी मरीज पाए गए हैं, जिनकी समुचित काउंसेलिंग एवं उपचार की गई है. इस अवसर पर डॉक्टर फारुक ने जेल के बंदियों को नशा रहित जीवन जीने का संकल्प दिलाया. उन्होंने कहा कि नशा परिवार और समाज को तोड़ता है. इससे किसी भी हालत में फायदा नहीं है. सिर्फ नुकसान ही नुकसान है. शिविर की अध्यक्षता डिप्टी सुपरिंटेंडेंट जलज कुमार ने की. इस मौके पर जेल चिकित्सक डॉक्टर एस के सुमन के अलावा मानसिक स्वास्थ्य जागरुकता कार्यक्रम के राजेश रमन, मो. एनुल तथा पूरी टीम मौजूद थी.

Banka Live Offer
IMG 20170830 WA0007 - Banka Live

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button