अपराधअमरपुरबांका

BREAKING : पुलिस और बालू माफियाओं की भिड़ंत में गोली लगने से फंटूश यादव की मौत

किसकी गोली से हुई फंटूश यादव की मौत, बना चर्चा का विषय

Banka Live On Telegram

BANKA : फंटूश यादव की मौत गोली लगने से हो गयी। गोली उसकी कनपटी में लगी है। उसे गोली किसने मारी, इस बात को लेकर तरह तरह की बातें हो रही हैं। फंटूश के परिजनों का कहना है की गोली बालू घाटों की पट्टा एजेंसी के लोगों ने मारी है। जबकि चर्चा यह भी है कि पुलिस की गोली लगने से फंटूश यादव की मौत हुई है।

IMG 20191023 104654 - Banka Live

घटना बांका जिला अंतर्गत अमरपुर थाना क्षेत्र के जेठौर बालू घाट के समीप जनकपुर गांव के निकट हुई गत रात पुलिस और बालू माफियाओं के बीच झड़प भी इसी जगह हुई थी, जहां अवैध रूप से डंप किए गए बालू की ट्रकों और ट्रैक्टरों पर लोडिंग की जा रही थी। इसी झड़प में एसडीपीओ बांका एवं पुलिसकर्मी भी घायल हुए थे।

फंटूश यादव की लाश को पोस्टमार्टम के लिए कल रात ही पुलिस ने बांका सदर अस्पताल लाया। हालांकि आज सुबह 9:00 बजे तक उसका पोस्टमार्टम नहीं हो पाया था। परिवार के लोग अस्पताल परिसर में मौजूद थे, लेकिन वे कुछ भी बोलने की स्थिति में नहीं थे। लेकिन साथ गए कुछ लोग आक्रामक रूप से फंटूश की मौत के लिए बालू घाटों के ठेकेदार के लोगों को इसके लिए जिम्मेदार ठहरा रहे थे। उन्होंने आरोप लगाया कि पुलिस ने धोखा देकर लाश को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल लाया।

Banka Live Offer

इस बीच स्थानीय सूत्रों ने बताया कि फंटूश यादव बालू ढोने वाले एक वाहन का चालक था। गोली उसकी कनपटी में लगी है। अगर बालू माफियाओं और पुलिस के बीच फायरिंग में उसे गोली लगी हुई होती तो जरूरी नहीं कि सिर्फ एक गोली उसकी कनपटी में लगती और उसकी मौत हो जाती। फंटूश की मौत से उसके गांव तथा आसपास भारी आक्रोश और असंतोष व्याप्त है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button