अपराधबांका

EXCLUSIVE : सुपारी किलिंग का मामला तो नहीं छोटू यादव की हत्या? राघोपुर के थे सभी अपराधी, पकड़े गए अपराधी ने किया खुलासा!

Banka Live On Telegram

ब्यूरो रिपोर्ट : क्या सिर्फ छोटू यादव को मारने के लिए ही राघोपुर से अपराधी यहां पहुंचे थे? यह सवाल सिर्फ इसलिए भी लाज़मी है कि अपराधियों द्वारा घटनास्थल पर मौजूद अन्य ट्रक एवं हाइवा से किसी बड़ी और महत्वपूर्ण लूटपाट के निशान नहीं मिल रहे हैं। आरोप किया जा रहा है कि अपराधियों ने सुधीर कुमार उर्फ छोटू यादव की हत्या के पूर्व कुछ अन्य ट्रक एवं हाइवा वालों से भी कुछ टूल्स एवं पानी आदि मांगे थे।

बहरहाल, इस मामले में मौका ए वारदात पर घटना के तुरंत बाद पकड़े गए एक हत्यारे ने स्थानीय लोगों और पुलिस को बहुत सारी बातें बताई हैं। हालांकि इन सभी बातों का खुलासा अभी नहीं हो पाया है। लेकिन पकड़े गए अपराधी ने अपनी पहचान भागलपुर जिला अंतर्गत राघोपुर के छोटू शर्मा के रूप में बताई है। सुविज्ञ सूत्रों के मुताबिक उसने इस हत्याकांड को अंजाम देने वाले अपराधी गिरोह के दो अन्य सदस्यों के भी नाम बताए हैं और वे दोनों भी राघोपुर के ही रहने वाले बताए गए हैं।

तो क्या राघोपुर से अपराधी यहां सिर्फ सुधीर कुमार उर्फ छोटू यादव की हत्या करने का मकसद लेकर पहुंचे थे? आखिर अपराधियों की छोटू यादव और उसके खलासी निरंजन राय से ही क्यों मुठभेड़ हुई? यदि चार अपराधियों पर सिर्फ दो युवक छोटू और निरंजन हावी हो गया और अपराधियों के हथियार छीन लिए गए तो हाइवा से बिना हथियार लिए छोटू क्यों उतर गया? फिर जब मुठभेड़ के बाद अपराधी बैकफुट पर थे तब वे भाग निकलने की बजाय हाइवा के ही आस-पास क्यों मौजूद रहे?

Banka Live Offer

सवाल यह भी उठ रहा है कि जब अपराधियों से उनके हथियार छीन कर उन्हें निरस्त्र कर दिया गया, फिर स्वयं छोटू हाइवा से बिना हथियार लिए क्यों अकेले उतर गया? कहते हैं कि जब छोटू हाइवा से उतरा तो तीन अपराधी हाइवा के ऊपर चढ़ गए और अपने अपने हथियार ले लिए। छोटू यादव जब हाइवा के ऊपर वापस लौट रहा था तो अपराधियों में से एक ने उसके सीने में गोली मार दी। बेशक यह पल भर की घटना नहीं रही होगी। इस घटनाक्रम ने कुछ समय लिया होगा।

सवाल यह भी कि जिस जगह यह घटनाक्रम चल रहा था, छोटू यादव का अपना घर और गांव महज सौ दो सौ मीटर की दूरी पर है। घटनास्थल के आसपास भी कई मालवाहक वाहन थे जिनमें आदमी भी मौजूद थे। घटना के दौरान काफी शोरगुल भी हुआ होगा। घर और गांव वालों को घटना स्थल पर पहुंचने में कुछ ही मिनट की देरी लग सकती है। लेकिन अपराधी आए… छोटू यादव के हाइवा को टारगेट किया और अंततः उसकी गोली मारकर हत्या कर दी!

पुलिस इस पूरे मामले की पड़ताल कर रही है। एक अपराधी पकड़ा जा चुका है। हालांकि कहते हैं कि तीन अन्य अपराधी भाग निकले। लेकिन पकड़े गए अपराधी ने, बताते हैं कि दो अन्य अपराधियों का नाम पुलिस के समक्ष बताया है। उनके पता ठिकाने भी बताए हैं। बाकी के एक अपराधी का भी नाम आगे पूछताछ में सामने आ सकता है। जो भी हो अंतरजिला गिरोह के अपराधी बांका थाना क्षेत्र में आकर हत्या कर जाते हैं। इस हत्याकांड के पीछे बड़े कारण हो सकते हैं! हालांकि वे कारण अभी अज्ञात हैं। लेकिन फिर भी यह तो माना ही जा रहा है कि यह सामान्य अपराध की घटना नहीं थी। बल्कि यह सुपारी किलिंग का मामला हो सकता है। पुलिस अनुसंधान में ऐसे कारणों पर से निसंदेह पर्दा उठ सकता है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button