स्वास्थ्यबांका

BIG BREAKING : बांका में भी हो गई है कोरोना की एंट्री, जिले में हड़कंप

Banka Live On Telegram

BANKA : बांका के लिए यह एक बड़ी और सनसनीखेज खबर है। एक तरह से यह बांका वासियों के लिए रेड अलर्ट है। बांका जिले में भी कोरोना की एंट्री हो चुकी है। मामला जिले के अमरपुर प्रखंड के एक गांव का है। यहां के एक 45 वर्षीय व्यक्ति में कोरोना वायरस के संक्रमण की पुष्टि हुई है। इस खबर के बाद संपूर्ण बांका जिले में हड़कंप व्याप्त है।

बिहार में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। पिछले 3 दिनों में राज्य में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में भारी इजाफा हुआ है। यह खतरे की घंटी है। कल मंगलवार को जहां 13 नए मरीजों के साथ बिहार में कोरोना संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 136 थी, वहीं आज गुरुवार की शाम तक 5 नए मरीजों की पुष्टि के साथ बिहार में कोरोना संक्रमित मरीजों की कुल तादाद बढ़कर 141 हो गई है।

images 54 copy 640x427 1 - Banka Live

बिहार सरकार के स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने इस संबंध में ट्वीट कर जानकारी दी है कि आज राज्य में जिन पांच कोरोना संक्रमित मरीजों की पुष्टि हुई है उनमें से 4 भागलपुर जिले के जबकि एक बांका जिले के हैं। बांका जिले के जिसे 45 वर्षीय पुरुष में कोरोना पॉजिटिव होने की पुष्टि हुई है, वह अमरपुर प्रखंड मुख्यालय के एक निकटवर्ती गांव का रहने वाला है।

Banka Live Offer

आज भागलपुर के जिन तीन पुरुषों और एक महिला में कोरोना पोजिटिव होने की रिपोर्ट आई है, उनमें से महिला नवगछिया की रहने वाली है, जिसकी उम्र 19 वर्ष है। शेष तीन पुरुषों में एक स्वास्थ्य कर्मी हैं, जबकि दो अन्य महाराष्ट्र से माइग्रेटेड हैं। स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव ने कहा है कि उनके कांटेक्ट की जांच की जा रही है। सभी मरीज भागलपुर स्थित मायागंज अस्पताल में हैं।

इस बीच, बांका जिले के 45 वर्षीय व्यक्ति को कोरोना पॉजिटिव होने की खबर जिलेभर में आग की तरह फैल गई है। इस खबर को लेकर जिले भर में हड़कंप एवं सनसनी व्याप्त है। सोशल मीडिया से लेकर आम जुबानी गॉसिप तक में बस इसी खबर को लेकर चर्चा है। ध्यातव्य है कि 20 अप्रैल के बाद कोरोना फ्री जोन में लॉक डाउन को लेकर कुछ ढिलाई दिए जाने के प्रधानमंत्री के संकेत के बाद 20 अप्रैल बीतते ही जैसे यहां के लोगों ने लॉक डाउन को लगभग ठेंगा दिखा दिया है।

अब इस नई खबर के बाद जिले में मचे हड़कंप का असर शायद कल से लॉक डाउन की इंटेंसिटी पर भी दिखाई दे। हालांकि फिलहाल इस प्रकरण से जुड़ी अच्छी बात यह है कि कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति बीमार होने के बाद अपने गांव आया ही नहीं, जैसा कि स्थानीय ग्रामीणों ने बताया। ग्रामीणों के मुताबिक यह व्यक्ति गांव में ही रहता है जिसकी अमरपुर बाजार में मनिहारी की दुकान है।

बताया गया कि मनिहारी का सामान लाने वह मुंबई गया हुआ था। लेकिन इसी दौरान कोरोना संकट की वजह से देशव्यापी लॉक डाउन में वह मुंबई में ही फंस गया। इस बीच किसी तरह बंदोबस्त कर वह भागलपुर पहुंचा, जहां जांच के दौरान संदिग्ध मरीज पाकर उसे आइसोलेशन में भेज दिया गया। इस बीच उसका सैंपल जांच के लिए भेजा गया। आज जांच रिपोर्ट आने पर उसमें कोरोनावायरस के संक्रमण की पुष्टि हुई। मरीज फिलहाल भागलपुर मायागंज हॉस्पिटल में इलाज में है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button