धार्मिक

नव विक्रम संवत्सर की वर्ष प्रतिपदा पर रहा जश्न का माहौल, भगवा ध्वज से पटा शहर

Banka Live On Telegram
बांका लाइव ब्यूरो : विक्रम संवत्सर 2075 की वर्ष प्रतिपदा पर बांका सहित जिले भर में जश्न और उल्लास का माहौल रहा। हर तरफ लोगों ने अपने अपने तरीके से इस भारतीय नववर्ष का उत्सव मनाया। शहरों और कस्बों में भगवा ध्वज लगाए गए। लोगों ने अपने घरों में रंगोलियां बनाई। एक दूसरे को बधाई देने का सिलसिला सुबह से ही चला। कई क्षेत्रों में लोगों ने अपने घरों में भी भगवा ध्वज लगाए। रात्रि में दीपमालिकाएं सजाने के आयोजन की भी तैयारियां हैं।

20180318 100058 1 - Banka Live

देश में भारतीय संवत्सर के रूप में विक्रम संवत को मान्यता प्राप्त है। ईसा पूर्व 57 वर्ष में भारतीय उपमहाद्वीप के महापराक्रमी सम्राट विक्रमादित्य जिनकी राजधानी उज्जैनी थी, के द्वारा संपूर्ण राज्य को ऋण मुक्त कर दिए जाने के बाद विक्रम संवत का प्रचलन आरंभ किया गया था। शकों से भी प्रजा को निजात दिलाने की याद में विक्रम संवत आरंभ किए जाने की बात कही जाती है। भारतीय मान्यताओं के अनुसार चैत्र शुक्ल प्रतिपदा को ही ब्रह्मा देव ने सृष्टि की रचना की थी। इस लिहाज से भी सनातन भारतीय परंपरा में चैत्र शुक्ल प्रतिपदा को वर्ष प्रतिपदा के रूप में मान्यता प्राप्त है।

Banka Live Offer
IMG 20180223 WA0004 1 - Banka Live

वर्ष प्रतिपदा के अवसर पर आज हर तरफ उल्लास और हर्ष का वातावरण रहा। लोगों ने एक दूसरे के घरों में जाकर उन्हें भारतीय नव संवत्सर की बधाई एवं शुभकामनाएं दीं। कई जगह विचार गोष्ठी एवं साहित्य गोष्ठियां भी आयोजित की गयी। आज नव संवत्सर के दिन ही वासंती नवरात्र का भी आरंभ होता है। इसलिए भी उत्सवी माहौल की चमक दूनी हो गयी। कई जगह सामूहिक भोज आदि का भी आयोजन हुआ। लोगों ने अपने-अपने घरों और दुकानों में भी भगवा ध्वज लगाए। देर शाम तक नव संवत्सर की बधाई और विभिन्न आयोजनों का सिलसिला जारी रहा।

20180317 170739%25280%2529 - Banka Live

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button